Port Moresby

दुनिया को मिल सकता है एक नया देश

शेयर करे

दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीप विश्व का नया देश बन सकता है. इसके समर्थन में इस द्वीप के  निवासियों के जनमतसंग्रह को पापुआ न्यू गिनी की संसद से स्वीकृति मिलने का इंतजार है. यह द्वीप फिलहाल पापुआ न्यू गिनी का हिस्सा है.

23 नवंबर से लेकर 7 दिसंबर 2019 तक दो हफ्ते की अवधि में चली जनमतसंग्रह की प्रक्रिया के नतीजे मानना कानूनी रूप से बाध्य नहीं है. बोगेनविले और पोर्ट मोरेस्बी नाम का ये द्वीप अब यहां से आगे का रास्ता आपसी बातचीत से तय करेंगे. पापुआ न्यू गिनी की संसद इस मामले पर अंतिम निर्णय लेगी.

स्वाधीनता को लेकर रेफरेंडम कराया जाना असल में करीब 20 साल से जारी शांति प्रक्रिया का हिस्सा है. 10 साल तक बोगेनविले और पापुआ न्यू गिनी के बीच चले खूनी गृह युद्ध के सन् 1998 में खत्म होने के बाद दोनों पक्षों ने आपसी सहमति से ऐसा जनमत संग्रह कराए जाने का फैसला लिया था. इस गृह युद्ध में 15,000 लोगों की जान चली गई थी.


शेयर करे