जम्मू-कश्मीर हो रही घटनाओं को हल्के में नहीं ले सकती पुलिस, हमें और सतर्क रहना होगा : डीजीपी

डीजीपी दिलबाग सिंह 31 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं

0

 श्रीनगर । जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने सोमवार को कहा कि पुलिस हो रही घटनाओं को हल्के में नहीं ले सकती। हमें और सतर्क रहना होगा, क्योंकि खतरे अभी भी बने हुए हैं। डीजीपी दिलबाग सिंह 31 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं और अब सीआईडी के विशेष डीजी आरआर स्वैन जम्मू-कश्मीर के डीजीपी होंगे।

ऑपरेशन कैपेसिटी बिल्डिंग (ऑप कैप) के तहत 43 पुलिस स्टेशनों के लिए 160 अत्याधुनिक वाहनों को लॉन्च करने के बाद डीजीपी सिंह श्रीनगर के ज़ेवान में संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रविवार को श्रीनगर के ईदगाह इलाके में क्रिकेट खेल रहे पुलिस इन्स्पेक्टर पर हमला किया गया। उसका इलाज किया जा रहा है और वह ठीक हो रहा है। डीजीपी ने कहा कि पुलिस किसी भी घटना को हल्के में नहीं ले सकती। उन्होंने कहा कि हमें सतर्क रहना होगा, क्योंकि खतरा बना हुआ है।

यह पूछे जाने पर कि वह किस संदेश के साथ पुलिस बल छोड़ रहे हैं, इस पर डीजीपी ने कहा कि मैं पुलिस बल नहीं छोड़ रहा हूं। एक पुलिसकर्मी हमेशा एक पुलिसकर्मी होता है। मैं 30 वर्षों से बल के साथ हूं और मैं बल के साथ ही बना रहूंगा। नए वाहनों के बारे में उन्होंने कहा कि आज 160 आधुनिक वाहन लॉन्च किए गए हैं और इन्हें ओपी कैप के तहत 43 पुलिस स्टेशनों में ‘पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में शून्य आतंक’ के उद्देश्य से तैनात किया जाएगा।

हाल की घुसपैठ की कोशिशों पर डीजीपी ने कहा कि सीमा ग्रिड मजबूत है, लेकिन पड़ोसी देश आतंकवादियों को घुसपैठ कराना जारी रखे हुए है। उन्होंने कहा कि हाल ही में माछिल सेक्टर में पांच आतंकवादी मारे गए, जबकि कुपवाड़ा जिले की मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया, जहां ऑपरेशन जारी है। जम्मू में अरनिया सेक्टर में संघर्ष विराम उल्लंघन के बारे में उन्होंने कहा कि इस बात की पुष्टि की जा रही है कि गोलीबारी की घटना किस वजह से हुई। उन्होंने कहा कि संघर्ष विराम से सीमावर्ती निवासियों को काफी राहत मिली है और मुझे उम्मीद है कि यह जारी रहेगा।

पड़ोसी देश में चुनाव होने के कारण घुसपैठ की अधिक कोशिशों की संभावना पर उन्होंने कहा कि पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां घटनाक्रम पर कड़ी नजर रखेंगी और किसी भी अतिरिक्त चुनौती से निपटने के लिए कदम उठाएंगी। उन्होंने कहा कि चुनाव हो या न हो, पड़ोसी देश आतंकियों को इस तरफ धकेलता रहता है। डीजीपी ने कहा कि सुरक्षा बल किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमेशा तैयार हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.